Minorities News
मीडिया को सत्ता के प्रति नहीं जनता के प्रति जिम्मेदार होना चाहिए। ऐसे समय में जब मेन स्ट्रीम मीडिया पत्रकारिता के बदले पक्षकारिता के धंधे में लिप्त है , तब सोशल मीडिया की जिम्मेदारी बढ़ गई है क्योंकि यही जनता की पत्रकारिता का मंच है।
वो जमाना गया जब मेन स्ट्रीम मीडिया झूठी खबर दिखाती रहे और हम उसे सच मानने को मजबूर रहें। सोशल मीडिया भी झूठी खबर का फरेब करता है और कर सकता है लेकिन यहाँ फरेब ज्यादा देर नहीं चलता इसीलिए हम इसे जनता का मीडिया मानते हैं।
बस सोशल मीडिया की ताकत बढ़ाइए। फरेब और फरेबी यूँ ही जमिन्दोज़ हो जायेंगे। झूठ के पाँव नहीं हो सकते । सोशल मीडिया इस भरोसे को बड़ी ताकत देता है।

Editor Minorities News